• Post category:Best
  • Post comments:0 Comments
  • Post author:
  • Post published:03/05/2021
  • Post last modified:03/05/2021

आप सवाल पूछने में संकोची तो नहीं हैं?

यदि ऐसा है तो अपना यह व्यवहार बदल लें और सवाल पूछने में देर न करें। कुछ माता पिता की ऐसे होती है की वो आपने बचो से कभी सवाल नहीं करते यह उनकी सबसे बड़ी गलती बन सकती है , इसलिए उनको सवाल करना चाहिए वो भी  बड़े विनम्रता से जिससे बचे खबराए नहीं।

कुछ सवाल तो जीवनसाथी से भी होते रहने चाहिए। सवाल पूछने में बुराई नहीं है लेकिन, सवाल पूछने का भी तरीका होता है। दो तरीके से पूछे जाते हैं। पहला अहंकार के साथ और दूसरा सरलता के साथ। यदि अहंकार से सवाल पूछ रहे हैं तो उत्तर शायद परेशान करे और समाधान भी नहीं मिलेगा। इसलिए विनम्रता से से सवाल करे तथा उसका उतर  भी सुने।

 

आपने उतर न दे और आपने ज्ञान को थोड़ा विश्राम दे दीजिए फिर उत्तर सुनिए। जब तसल्ली से उत्तर सुन लें तब अपने ज्ञान, उतर व जानकारी का उपयोग कीजिए। पता नहीं कौन-सा उत्तर आपके लिए प्रेरणा बन जाए। दुनिया में कोई यह दावा नहीं कर सकता कि उसके पास हर प्रश्न का उत्तर है।

सभी के पास अपने-अपने उत्तर होते हैं। सवाल पूछने की क्रिया का लाभ यह है कि इससे अहंकार गिरता है। सरलता से पूछेंगे, श्रद्धा से सुनेंगे तो आपकी जानकारी बढ़ जाएगी।

Pandit astrologer Shastri clientele is growing in the whole world over time sake of having deep and great knowledge of astrological. All clients are satisfied from their services, they still in touch with Astrologer and getting avail of their services and knowledge.

Email: [email protected]

Leave a Reply