• Post category:Best
  • Post comments:0 Comments
  • Post author:
  • Post published:03/05/2021
  • Post last modified:03/05/2021

ज्योतिषशास्त्र में  ऐसा जाना जाता है कि घर का अलग अलग स्थान अलग अलग ग्रहों को नियंत्रित करते है। ऐसा  करने से ग्रहों के सही रंग के प्रयोग से ग्रह मजबूत होंगे। जब हम सही जगहों पर सही रंग के प्रयोग करते है तो इससे ग्रहों का संतुलन बना रहता है और सुख शांति रहेगी। इस बात से बहुत कम लोग वाकिफ है कि घर में गलत रंग के प्रयोग से ग्रह उलटे भी हो सकते है।

ज्योतिषशास्त्र में  ऐसा जाना जाता है कि घर का अलग अलग स्थान अलग अलग ग्रहों को नियंत्रित करते है। ऐसा  करने से ग्रहों के सही रंग के प्रयोग से ग्रह मजबूत होंगे। जब हम सही जगहों पर सही रंग के प्रयोग करते है तो इससे ग्रहों का संतुलन बना रहता है और सुख शांति रहेगी। इस बात से बहुत कम लोग वाकिफ है कि घर में गलत रंग के प्रयोग से ग्रह उलटे भी हो सकते है। एवं बिना कारण के आप किसी भी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। जानिए घर में किस स्थान पर कौनसे रंग का प्रयोग करे।

घर के मुख्य द्वार का रंग कैसा करना चाहिए ?

  • जो घर का मुख्य द्वार होता है वो सूर्य से संबंध रखता है।
  • यह ऐसी जगह है जिसका रंग लालिमा या पीलापन सा होना चाहिए।
  • अगर कोई इस स्थान का रंग काला करता है तो यह बहुत ज्यादा नुकसानदायक होता है।
  • यह ऐसा स्थान है जहा प्रकाश की उत्तम व्यवस्था होनी चाहिए।
  • इस स्थान पर प्रकाश की बहुत ही उत्तम व्यवस्था होनी चाहिए।

घर के लिविंग एरिया का रंग कैसा होना चाहिए ?

  • घर के लिविंग एरिया का रंग चमकदार होना चाहिए।
  • सफ़ेद रंग का भी प्रयोग कर सकते है।
  • लिविंग एरिया के लिए हल्का पीला, गुलाबी और बैंगनी रंग उपयुक्त है।
  • लिविंग एरिया में कभी भी लाल और नीले रंग का प्रयोग न करे तो अच्छा होगा।

घर की रसोई का रंग कैसा होना चाहिए ?

  • रसोई का स्थान मंगल और कुछ अर्थो में सूर्य का है।
  • रसोई में पीला और नारंगी रंग शुभ होता है।
  • इधर सूर्य का प्रकाश आना भी अतिआवश्यक होता है।
  • रसोई में गाढ़े रंगो का प्रयोग नहीं करे।

घर के शयनकक्ष का रंग कौनसा होना चाहिए ?

  • घर के शयनकक्ष का स्थान शुक्र और कुछ अर्थो में शनि से संबंध रखता है।
  • यह ऐसा स्थान है जहा ठन्डे रंगो का प्रयोग करना लाभकारी होता है।
  • इस जगह पर हल्का गुलाबी, हल्का हरा और क्रीम रंग शुभ होता है।
  • इस जगह का रंग लाल और नीला न करे।
  • शयनकक्ष में हल्के प्रकाश की व्यवस्था करे।

घर के बाथरूम का रंग कैसा होना चाहिए ?

  • घर का बाथरूम राहु और केतु से संबंध रखता है।
  • बाथरूम में जलीय रंगो का प्रयोग करना बहुत शुभ माना जाता है।
  • यहाँ पर नीले या सफ़ेद रंग का प्रयोग करे।
  • यहाँ पर प्रकाश की अच्छी व्यवस्था करे।
  • पानी की बर्बादी ना करे।

Like & Share our Facebook Page.

Pandit astrologer Shastri clientele is growing in the whole world over time sake of having deep and great knowledge of astrological. All clients are satisfied from their services, they still in touch with Astrologer and getting avail of their services and knowledge.

Email: [email protected]

Leave a Reply